कन्या विवाह हेतु एक सरल प्रयोग : अगर विवाह में बढ़ा आ रही हो या विवाह होने में किसी प्रकार की रुकावट हो तो सबसे पहले उचित ज्योतिष से परामर्श अवस्य लेना चाहिए क्युकी कई बार मंगल दोष, सप्तम भाव दोष और कालसर्प दोष जैसे विभिन्न दोष के कारण ऐसे समस्या आती है और बार बार रिश्ता होते होते रुक जाना या टूट जाना होता है इस कारण कबि कभी मानसिक विक्चिप्त हो जाते है लोग और कई बार तो परिवार के लोग समझ ही नहीं पाते की ऐसा किस कारण हो रहा है । प्रेम विवाह में हमेसा इस बारे में बहुत विस्तार से जांच पड़ताल करके ही कोई विकल्प लेना या सोचना चाहिए । कई बार ऐसे में लोग भ्रमित होक गलत पूजा पाठ करने लगते है जबकि अगर ज्योतिष विधि से उपचार करे तो इसका निदान बहुत सरलता से मुमकिन है । अगर आप को ज्योतिष सलाह चाहे तो आप हमसे संपर्क कर सकते है विवाह सम्बन्ध परेशानी के लिए निचे एक छोटा सा बहुत सरल उपाय  “कन्या विवाह हेतु एक सरल प्रयोग” दिया जा रहा है इस उपाय को करने से विवाह में आयी परेशानी दूर हो जाती है

प्रस्तुत ‘प्रार्थना’ माँ सीता ने भगवान् राम को पति-रुप पाने हेतु यह प्रयोग किया था। पहले शुद्ध होकर दुर्गा जी की मूर्ति या चित्र के सामने बैठे। फिर दुर्गा का भक्ति-भाव से अधीर होकर ‘पञ्चोपचार पूजन’ करे। पूजन के बाद प्रणाम करे –

“ॐ श्रीदुर्गायै सर्व-विघ्न-विनाशिन्यै नमः।”

पुनः हाथ जोड़कर ‘प्रार्थना’ करे-

“ॐ सर्व-मंगल-मांगल्ये, सर्व-काम-प्रदे शिवे ! देहि मे वाञ्छितं नित्यं, नमस्ते शंकर-प्रिये।”

फिर, निम्न-लिखित मन्त्र का कम-से-कम २१ बार पाठ करे –

“ॐ दुर्गे शिवे अभये माये, नारायणि सनातनि ! जये मे मंगलं देहि, नमस्ते सर्व-मंगले।।”

उक्त मन्त्र का २१ बार पाठ करने के बाद गाय के घी, शहद, मिश्री, लाल चन्दन-चूरा, अर्जुन की छाल, कमल गट्टे से हवन करे। अँगीठी में
आम की लकड़ी की अग्नि या गाय के गोबर के कण्डे की अग्नि में निम्न लिखे देवी -मन्त्रों से ११ बार नित्य हवन करे –

१॰ ॐ श्रीदुर्गायै नमः स्वाहा, २॰ ॐ श्रीशिवायै नमः स्वाहा, ३॰ ॐ श्री अभयायै नमः स्वाहा, ४॰ ॐ श्रीमायायै नमः स्वाहा, ५॰ ॐ श्रीनारायण्यै नमः स्वाहा, ६॰ ॐ श्रीसनातन्यै नमः स्वाहा, ७॰ ॐ श्रीजयायै नमः स्वाहा, ८॰ ॐ श्रीमंगलायै नमः स्वाहा, ९॰ ॐ श्री सर्व-मंगलायै नमः स्वाहा।

कन्या शीग्रह विवाह प्रयोग के माध्यम से भी किसी भी कन्या का बंधा हुआ लग्न खोला जा सकता है बहुत बार ऐसा देखा जाता है की लोग किसी कन्या का विवाह लग्न तंत्र मंत्र से बांध देते है जिसके वजह से रिश्ते तो आते है मगर शादी हो नहीं पति और लम्बे समय तक लड़की कुवारी ही रह जाती है मगर शीग्रह विवाह मंत्र विधि के माध्यम से मनचाहे जीवनसाथी की प्राप्ति की जा सकती है और विवाह बाधा दूर करने के मंत्र के प्रभाव से विवाह सुख प्राप्त किया जा सकता है ।

Summary
कन्या विवाह बाधा निवारण मंत्र | विवाह बाधा दोष दूर करने का उपाय टोटके मंत्र यन्त्र
Article Name
कन्या विवाह बाधा निवारण मंत्र | विवाह बाधा दोष दूर करने का उपाय टोटके मंत्र यन्त्र
Description
कन्या विवाह बाधा निवारण मंत्र यन्त्र और टोटके हमारे द्वारा प्रदान किये जाते है साथ ही विवाह बढ़ा निवारण के लिए कुंडली परामर्श भी निशुल्क उपलब्ध है | विवाह बाधा दोष दूर करने के लिए उपाय टोटके मंत्र यन्त्र साधना के लिए आप संपर्क कर सकते है | कन्या विवाह बाधा निवारण यन्त्र ताबीज के लिए संपर्क करे और शीग्रह विवाह बंधन में बांधने का सौभाग्य प्राप्त करे
Author
Publisher Name
Astrology Research Center
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *